गर्मी व पसीने के कारण पहना हुआ मास्क गीला होने बढ़ सकता हैं खतरा, पढ़े बचाव

गर्मी व पसीने के कारण पहना हुआ मास्क गीला होने बढ़ सकता हैं खतरा, पढ़े बचाव

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए दुनियाभर के चिकित्सक फेस मास्क लगाने की सलाह दे रहे हैं। लेकिन हिंदुस्तान जैसे देश में मास्क लगाने को लेकर भी एक बड़ी चुनौती है।

इस गर्मी व उमस भरे मौसम में मास्क लगाने से चेहरे पर पसीना बहुत आता है। हाल ही में वैज्ञानिकों ने यह भी बोला है कि गीला मास्क कोरोना वायरस से बचाव के लिए बिलकुल भी प्रभावी नहीं है। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं ठीक तरीका। ।

कितना खतरनाक है गीला मास्क
स्वास्थ्य विशेषज्ञों का बोलना है कि कपड़े से बना मास्क कोरोना वायरस से तभी बचा सकता है जब वह सूखा हो। गीला मास्क कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए प्रभावी नहीं है। ऐसे में अगर गर्मी व पसीने के कारण पहना हुआ मास्क गीला हो जाता है तो संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है। गीले कपड़े से वायरस शरीर के भीतर सरलता से प्रवेश कर सकता है।

कैसे करें बचाव
इमरजेंसी मेडिसीन एक्सपर्ट डाक्टर टेरेसा मूरे का बोलना है कि गर्मी में पसीना खूब आता है। लेकिन कोरोना काल में आपके फेस मास्क का गीला होना, बचाव से ज्यादा संक्रमण का खतरा पैदा करता है। ऐसे में लोगों को सलाह दी जाती है कि वे किसी भी स्थान जाते वक्त कम से कम दो मास्क अपने पास रखें। अगर किसी कारणवश एक मास्क पसीने से गीला हो जाए तो तुरंत इसे बदलकर सूखा मास्क पहन ले। इससे संक्रमण का खतरा घटाया जा सकता है।  

इसके अतिरिक्त हेल्थ एक्सपर्ट यह भी कहते हैं कि गर्मी के दिनों में कॉटन वाले मास्क की स्थान हल्के सर्जिकल मास्क लगाना ज्यादा लाभकारी है। सर्जिकल मास्क की एक अच्छी बात ये है कि इसमें से सांस लेने में ज्यादा कठिनाई नहीं होती। साथ ही ज्यादा हवा आने की पसीना कम आता है।