कल से बैंकिंग से लेकर रसोई तक पड़ेगा असर आपकी जीवन पर ये असर

कल से बैंकिंग से लेकर रसोई तक पड़ेगा असर आपकी जीवन पर ये असर

नयी दिल्लीः बुधवार से जुलाई महीना प्रारम्भ हो रहा है। कोरोना काल में 1 जुलाई से जहां एक तरफ सरकार अनलॉक-2 की प्रक्रिया को प्रारम्भ कर रही है, वहीं दूसरी तरफ आपके घर की रसोई से लेकर के जेब पर भी कई बातों का प्रभाव पड़ेगा। आम आदमी वैसे ही कोरोना व पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान हो रहा है, ऐसे में कल से बैंकिंग नियमों व एलपीजी की कीमतों में भी परिवर्तन होगा। आइये जानते हैं कौन-कौन से प्रमुख परिवर्तन आपके ज़िंदगी में 1 जुलाई से होने वाले हैं।

एटीएम ट्रांजेक्शन पर नहीं मिलेगी छूट
बुधवार से सभी बैंकों के खाताधारकों को एटीएम से कैश ट्रांजेक्शन करने पर किसी तरह की छूट नहीं मिलेगी। पहले की तरह हर महीने केवल मेट्रो शहरों में आठ व नॉन मेट्रो शहरों में 10 ट्रांजेक्शन ही लोग कर सकेंगे। कोरोना वायरस के चलते पहले लोगों को एटीएम से असीमित निकासी की सुविधा दी गई थी।  

फिर से खाते में रखना होगा मिनिमम बैलेंस
खाताधारकों को अपने बैंकों के नियमों के हिसाब से हर माह बचत खाते में मिनिमम बैलेंस रखना होगा। मिनिमम मंथली बैलेंस मेंटेन रखने की आवश्यकता को लॉकडाउन के दौरान समाप्त कर दिया था। मेट्रो सिटी, शहरी व ग्रामीण इलाकों में भिन्न-भिन्न मिनिमम बैलेंस का चार्ज लगता है।

मिलेगा कम ब्याज
सबसे बड़ी मार ग्राहकों के खाते पर मिलने वाले ब्याज पर पड़ी है। ज्यादातर बैंक बचत खाते में मिलने वाले ब्याज में कमी कर देंगे। जहां पंजाब नेशनल बैंक के खाताधारकों को मिलने वाले ब्याज में 0.50 प्रतिशत की कमी की जाएगी, वहीं अन्य सरकारी बैंकों में भी अधिकतम 3.25 प्रतिशत ब्याज मिलेगा।

खाता होगा फ्रीज
इसके साथ ही 1 जुलाई से कई बैंकों में डॉक्यूमेंट जमा नहीं कराने पर लोगों के खाते फ्रीज हो जाएंगे। बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ ही विजया बैंक व देना बैंक में भी ये नियम लागू हो गया है। बताते चलें कि विजया व देना बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय हो चुका है।  

बदलेंगी एलपीजी, हवाई ईंधन की कीमतें
ऑयल मार्केटिंग कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर व हवाई ईंधन की नयी कीमतों की घोषणा करती हैं। पिछले कुछ महीनों से कीमतों में इजाफा हो रहा है। वहीं पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से उम्मीद लग रही है कि लोगों की रसोई के साथ ही हवाई किराये में लागत बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी।  

अटल पेंशन योजना का बदलेगा नियम
अटल पेंशन योजना (APY) में 30 जून के बाद Auto debit फिर प्रारम्भ होने कि सम्भावना है। PFRDA के 11 अप्रैल के सर्कुलर के मुताबिक, कोरोना वायरस महामारी के कारण इस सुविधा को 30 जून तक रोका गया था। इसलिए बैंकों ने अटल पेंशन योजना से ऑटो डेबिट रोक दिया था। 1 जुलाई से यह फिर प्रारम्भ होने कि सम्भावना है।

एमएसएमई का औनलाइन पंजीकरण
सूक्ष्म, लघु व मझोले उद्यम (एमएसएमई) 1 जुलाई से औनलाइन पंजीकरण करा सकेंगे। सरकार ने इस संदर्भ में बताया था कि यह पंजीकरण स्वघोषित जानकारियों के आधार पर होगा, इसके लिए दस्तावेज अपलोड करने की आवश्यकता नहीं होगी। मुद्दे से जुडे़ ऑफिसर ने बताया कि उद्यमों के पंजीकरण की प्रक्रिया इनकम टैक्स व GST के साथ जोड़ी जा रही है। यहां दी गई जानकारियों का सत्यापन पैन नंबर व जीएसटीआईएन के विवरण से किया जाएगा।

कोरोना काल में PF का पैसा निकालने की आखिरी तारीख
केन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगाए गए लॉकडाउन में पीएफ से पैसा निकालने के लिए नियमों में ढील दी थी। अगर आप अपने पीएफ एकाउंट से कुछ राशि निकालना चाहते हैं तो एक जुलाई से होने जा रहा ये परिवर्तन जरूरी है। एक जुलाई से आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। ये सुविधा केवल 30 जून तक थी।  

किसान सम्मान निधि में पंजीकरण 
पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत नरेन्द्र मोदी सरकार की तरफ से हर वर्ष किसानों को 2000 रुपये की तीन किस्तों में 6000 रुपये दिए जाते हैं। अब तक पांच किस्तें किसानों को भेजी जा चुकी हैं। योजना में 30 जून तक पंजीकरण करा सकते हैं। अगर 30 जून तक वह आवेदन कर देते हैं तो जुलाई में आपको 2000 रुपये मिलेंगे व साथ में अगस्त में भी आपको दूसरी किस्त के रूप में 2000 रुपये व मिल जाएंगे।

म्यूचुअल फंड की खरीद पर लगेगी स्टांप ड्यूटी
एक जुलाई से म्यूचुअल फंड खरीदने पर निवेशकों को उस पर 0.005 प्रतिशत स्टांप ड्यूटी भी देनी होगी। फिर चाहे आप सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) व सिस्टेमेटिक ट्रांसफर प्लान (एसटीपी) के जरिए भी म्यूचुअल फंड में पैसा लगा रहे हो। यह स्टांप ड्यूटी डेट व इक्विटी सभी तरह के म्यूचुअल फंड पर लगेगी। स्टाम्प ड्यूटी लगने का प्रभाव सबसे ज्यादा डेट फंड पर देखने को मिलेगा।