असम के तिनसुकिया जिले में गैस कुएं में लगी आग पर काबू पाने के लिए सेना ने उठाए यह बड़े कदम

असम के तिनसुकिया जिले में गैस कुएं में लगी आग पर काबू पाने के लिए सेना ने उठाए यह बड़े कदम

असम के तिनसुकिया जिले के बागजान गैस कुएं में लगी आग व बेतहाशा गैस लीक पर काबू पाने के अभियान में सोमवार से सेना भी शामिल हो गई. निकाय प्रशासन की ओर से एक पुल बनाने में सहायता की मांग के बाद यह निर्णय लिया गया.

ऑयल इंडिया लिमिटेड ने एक बयान में कहा, 'कुएं में लगी आग पर काबू के लिए अभियान की आपात स्थिति के मद्देनजर तिनसुकिया के उपायुक्त भास्कर पेगु ने कुएं से सटे एक जल क्षेत्र पर 150 मीटर लंबा पुल बनाने के लिए सेना की सेवा का अनुरोध किया.'
    
इसके मुताबिक, प्रशासन के अनुरोध को स्वीकार करते हुए सेना मिसामरी व तेजू से बागजान आपदा क्षेत्र में सामान व कर्मियों को ला रही है.

बता दें कि बागजान ऑयल कुएं में 9 जून को भीषण आग लग गई थी. कुएं से पिछले कई दिन से अनियंत्रित ढंग से गैस का रिसाव हो रहा था. तेल इंडिया लिमिटेड के ऑयल कुएं में लगी आग इतनी भीषण है कि उसकी लपटें 30 किलोमीटर से भी ज्यादा दूर से देखी जा सकती हैं, कई मीटर की ऊंचाई तक धुएं का गुब्बार उठ रहा था. 27 मई को हुए भीषण विस्फोट के बाद आज की घटना से आसपास की जैव विविधता को अच्छा-खासा नुकसान भी हुआ.