इमरान को धमकाते हुए बदमाशों ने तीन बार बुलवाया 'जय श्री राम', व फिर...

इमरान को धमकाते हुए बदमाशों ने तीन बार बुलवाया 'जय श्री राम', व फिर...

पुलिस ने बताया पीड़ित इमरान इस्माइल पटेल (27) घटना वाले दिन आधी रात को बाइक से घर लौट रहा था, तभी उसे हुडको चौक पर कुछ लोगों ने रोक लिया. बदमाशों ने उसकी बाइक की चाभी छीन ली व फिर नाम व विस्तार से इस बारे में लेने लगे. जब युवक ने इसका विरोध किया तो उन लोगों ने उसके साथ हाथापाई करनी प्रारम्भ कर दी.

महाराष्ट्र, मुस्लिम वेटर, मारपीट के लिए इमेज परिणाम

उनमें से एक ने युवक के सिर पर एक पत्थर उठाकर उसे धमकाते हुए 'जय श्री राम' कहने के लिए बोला. मृत्यु के भय से इमरान ने जोर-जोर से तीन बार 'जय श्री राम' का नारा लगाया.

नारे की आवज सुनकर कुछ लोकल लोग अपने घरों से बाहर आ गए व युवक को उन बदमाशों से बचा लिया.

दर्ज कराई रिपोर्ट

इसके बाद डरे-सहमे इमरान पटेल ने बेगमपुरा स्टेशन में अपने साथ हुई हाथापाई व बदसलूकी की रिपोर्ट दर्ज कराई. मुद्दे को तुरंत संज्ञा में लेते हुए पुलिस ने बदमाशों की धरपकड़ प्रारम्भ कर दी. रविवार को उनमें से एक आरोपी जी। वी सोनावाने पुलिस ने अरैस्ट कर लिया. उससे पुछताछ के बाद सोमवार को पुलिस ने अन्य आरोपियों को भी हिरास्त में ले लिया.

मामला सामने आने के बाद इसे सांप्रदायिक घटना बोला जा रहा है. लेकिन पुलिस ने इसे सांप्रदायिकता से ना जोड़ने की अपील करते हुए बोला कि अफवाहों पर विश्वास न करें.

पहले भी सामने आई थी ऐसी घटना

बता दें कि इस तरह की घटना कोई नयी बात नहीं है. इससे पहले झारखंड के सरायकेला में मुस्लिम युवक तबरेज अंसारी ( Jharkhand Mob Lynching ) के साथ हाथापाई की घटना सामने आई थी. इस घटना से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था.

जिसमें भीड़ पेड़ से बंधे अंसारी को पीटते हुए नजर आ रही थी. पिटाई के बाद भीड़ ने उसे पुलिस को सौंप दिया था. हालत बिगड़ने के बाद उसे एक अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा वरविवार को अस्पताल में उसकी मृत्यु हो गई. अंसारी की पत्नी शाइस्ता परवीन ने बोला कि उनके पति को पेड़ से बांधकर बेरहमी से पिटाई की गई व 'जय श्री राम' का नारा लगाने के लिए विवश किया गया था.