‘अरे नालायकों तुम लोगों को खरीदने के.. ’ भड़कते हुए Kangana Ranaut ने मीडिया के लिए कह डाली ये बात

‘अरे नालायकों तुम लोगों को खरीदने के.. ’ भड़कते हुए Kangana Ranaut ने मीडिया के लिए कह डाली ये बात

कंगना रनौत का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह कॉन्फ्रेंस में हुई कॉन्ट्रोवर्सी पर बोलती नजर आ रही हैं. इस वीडियो को कंगना की बहन रंगोली चंदेल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया है. रंगोली ने ट्विटर व इंस्टाग्राम में कंगना की इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ‘कंगना ने मीडिया को मेसेज किया!!!! यहां कंगना वीडियो में कुछ कह रही है जो कि उस मीडिया के लिए है जिसने कंगना को बैन किया है.’

कंगना वीडियो में कहती हैं- ‘हर स्थान अच्छे लोग भी होते हैं व बुरे लोग भी होते हैं. मीडिया में कुछ लोगों ने मुझे प्रोत्साहित किया है, मुझे अच्छी सलाह भी दी है. मैं कहूंगी कि मेरी सफलता के पीछे उनका बहुत बड़ा हाथ है. लेकिन जो दीमक की तरह मीडिया के अंदर एक सेक्शन है, वह हमारे देश में दीमक की तरह लगा हुआ है. ये लोग दसवीं फेल भी नहीं हैं. मैं एक चिंदी से जर्नलिस्ट को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मिली. कुछ वक्त पहले मैंने कई समाजिक कैंपेन्स में कार्य किया वह उनका मजाक उड़ाता नजर आया. मैेंने शहीद के नाम पर फिल्म बनाई वह उसकी भी खिल्ली उड़ा रहा था.’ देखेें कंगना का ये वीडियो:-

A post shared by Rangoli Chandel (@rangoli_r_chandel) on Jul 10, 2019 at 8:30pm PDT

कंगना ने आगे कहा- ‘आप अपने आप को जर्नलिस्ट कहते हैं, ऐसा क्या कार्य किया है आपने? दिखाओ अपना लिखा हुआ? जैसे मैं खुद को कलाकार कहती हूं, तुम्हारे पास भी होना चाहिए कुछ क्रिएटिव. मैंने उस इंसान के सवालों का जवाब देने से माना कर दिया था ऐसे में इन तीन चार पत्रकारों ने मिलकर ऐसा किया. मेरे पास किसी भी देशद्रोही के लिए जीरो पर्सेंट टॉलरेंस है. मेरे विरूद्ध इन तीन चार लोगो ने एक गिल्ड बना दी जिसकी कोई मान्यता नहीं है. उन्होने अब मुझे धमकी देना प्रारम्भ कर दिया है कि वह मुझे बैन कर देंगे व मेरा करियर बर्बाद कर देंगे.’

कंगना ने आगे कहा- ‘अरे नालायकों, देशद्रोहियों, बिकाऊ लोगों, तुम लोगों को खरीदने के लाखों भी नहीं चाहिए. तुम तो इतने सस्ते हो कि 50-60 रुपए में बिक जाओ. जो अपने देश के साथ गद्दारी करते हैं व उसी थाली में छेद करते हैं जिसमें वह खाते हैं. तुम जैसे नालायक मुझे बैन करोगे. तुम लोगों के बाप दादाओं को भी मैंने लोहे के चने चबवाए हैं.’