जयशंकर ने कहा, पीएम ने ट्रंप से ऐसी कोई अपील नहीं की

जयशंकर ने कहा, पीएम ने ट्रंप से ऐसी कोई अपील नहीं की

वर्तमान में सामने आए अमेरिकीराष्ट्रपति ट्रंप के बयान पर पीएम नरेंद्र मोदी से स्‍पष्‍टीकरण के लिए विपक्ष की मांग को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संसद के दोनों सदनों में मंगलवार को जवाब दिया। विदेश मंत्री ने पहले राज्‍यसभा व फिर लोकसभा में अपना पक्ष रखा।

जयशंकर, पीएम बयान, ट्रंप के लिए इमेज परिणाम

अपने बयान में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बोला पीएम ने ट्रंप से ऐसी कोई अपील नहीं की। कश्‍मीर भारत-पाकिस्‍तान का द्विपक्षीय मसला है, इसमें कोई तीसरा मुल्‍क हस्‍तक्षेप नहीं कर सकता है। आतंकवाद समाप्‍त होने के बाद ही पाकिस्‍तान के साथ बातचीत संभव है। कश्‍मीर को लेकर हिंदुस्तान का रुख हमेशा से साफ रहा है। मैं बोलना चाहूंगा कि शिमला व लाहौर समझौते के तहत तय हुआ था कि पाक के साथ हर मामला द्विपक्षीय ही सुलझ सकता है। ट्रंप का विवादित बयान

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान ने ट्रंप के साथ मुलाकात में कश्मीर मामले पर चर्चा की। इसी बातचीत के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने बोला था कि कश्मीर पर हम मध्यस्थता को तैयार हैं। भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी ने ने मुझसे इस मामले को सुलझाने में मदद मांगी थी। पाकिस्‍तानी पीएम इमरान खान ने भी डोनाल्ड ट्रंप से कश्मीर के मसले पर हस्तक्षेप की मांग की। इमरान खान ने कहा, 'मैं राष्ट्रपति ट्रंप से बोलना चाहता हूं कि अमेरिका संसार का सबसे शक्तिशाली देश है व वह उपमहाद्वीप में शांति में अहम सहयोगदे सकता है। ’ इसपर ट्रंप ने कहा, ‘मैं पीएम मोदी से दो सप्ताह पहले मिला था। हमने इस मामले पर बात की व उन्होंने हमसे बोला कि आप मध्यस्थता करेंगे। मैंने बोला किस पर तो उन्होंने बोला कि कश्मीर। उन्होंने बोला बहुत वर्षों से टकराव चल रहा है, इसका हल चाहते हैं व आप भी इसका हल चाहते हैं। मैंने बोला कि मुझे इस मामले में मध्यस्थता करके खुशी होगी। ’