राजस्थान में पोक्‍सो मामलों की अदालतों ने बलात्कार के आरोपियों को सुनाई सजा, अरेस्ट

राजस्थान में पोक्‍सो मामलों की अदालतों ने बलात्कार के आरोपियों को सुनाई सजा, अरेस्ट

राजस्थान में पोक्‍सो मामलों की अदालतों ने बलात्कार के दो दोषियों को उनके किए की सजा के तौर पर 10-10 वर्ष सख्त जेल का दंड सुनाया है। वर्ष 2015 में मई व जून के महीने में दो भिन्न-भिन्न मामलों में जयपुर के मनीष व राजू को बलात्कार के आरोप में हिरासत में लिया गया था। बुधवार को जयपुर की पोक्सो मामलों की विशेष अदालतों ने दोनों को दोषी मानते हुए यह सजा सुनाई है।

जज रेखा शर्मा ने राजू रैगर को सुनाई सजा

मई 2015 में बगरू थाना इलाके में एक नाबालिग को बहला-फुसलाकर भगा ले जाने व फिर दुष्कर्म के आरोपी राजू रैगर (24 वर्ष) को दोषी मानते हुए 10 वर्ष की सख्त जेल की सजा सुनाई गई। पोक्सो मामलों की विशेष अदालत-5 में जज रेखा शर्मा ने राजू को जेल के साथ 65 हजार रुपए के जुर्माने की सजा भी सुनाई। गांव की ही लड़की के साथ ऐसा करने वाले राजू को सजा के साथ जज ने पीड़िता को 50 हजार रुपए प्रतिकर राशि दिलाने की अनुशंसा भी की।

4 वर्ष की मासूम से रेप, मनीष को अब मिली सजा

जयपुर के झालाना में एक 4 वर्ष की मासूम बच्ची के साथ जून 2015 में पड़ोस में रहने वाले मनीष हरिजन (35 वर्ष) ने गलत कार्य किया था। पीड़िता के परिजनों ने थाने में रिपोर्ट लिखवाई थी कि वस्तु खिलाने के बहाने आरोपी बच्ची को जंगल की तरफ ले गया व उसके साथ गलत कार्य किया। इस केस में पोस्को मामलों की विशेष अदालत-4 में जज सीताराम खोवाल ने बुधवार को आरोपी को दस वर्ष की सख्त जेल की सजा सुनाई।