पुलिस ने मुर्गों के पंख की बोरी से सुलझाया मर्डर का मामला

पुलिस ने मुर्गों के पंख की बोरी से सुलझाया मर्डर का मामला

महाराष्ट्र के ठाणे जिले में मुर्गों के पंख से भरी एक बोरी ने पुलिस को मर्डर आरोपी तक पहुंचा दिया। दरअसल, पुलिस को ठाणे में जले हुए मृत शरीर के पास मुर्गों के पंख से भरी एक बोरी मिली। पुलिस ने इस बोरी से हर मुद्दे को सुलझाकर पश्चिम बंगाल से हत्यारे को धर दबोचा। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (अपराध शाखा) वेंकट अंडाले ने बताया कि 23 जून को कल्याण में एक छोटे पुल के नीचे 25 वर्ष की एक महिला की आंशिक रूप से जली हुई डेड बॉडी मिली थी।

शव बरामद होने के बाद फरार हो गया था आरोपी

अंडाले ने बताया कि जाँच के दौरान पुलिस को मृत शरीर के पास ही मुर्गों के पंख से भरी एक बोरी मिली। मृत शरीर पर एक ताबीज भी बंधा था, जिस पर बंगाली में कुछ लिखा था। इसके बाद पुलिस उस क्षेत्र में चिकन के दुकानदार व बंगाली बोलने वालों की तलाश में जुट गई। इसी दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि खडावली से एक महिला आलम शेख नाम के एक दुकानदार (33) के पास आती थी। साथ ही सूचना मिली कि मृत शरीर बरामद होने के बाद शेख आकस्मित बंगाल चला गया।

आरोपी ने बताया, पैसे नहीं लौटाने पर कर दी हत्या

इस पर ठाणे पुलिस की एक टीम पश्चिम बंगाल गई, जिसे बीरभूम के सैदपुर गांव में आरोपी की मौजूदगी की जानकारी मिली।अंडाले ने बताया कि पूछताछ के दौरान शेख ने मोनी नाम की महिला की मर्डर की बात कबूल कर ली। उसने बताया कि कुछ महीने से उसके उस महिला के साथ संबंध थे। महिला ने कुछ समय पहले उससे ढाई लाख रुपये लिए थे, लेकिन वह पैसा नहीं लौटा रही थी। इसके बाद उसने एक दास्त के साथ मिलकर उसकी गला घोटकर उसकी मर्डर कर दी। इसके बाद दोनों मृत शरीर को सूनसान स्थान ले गए व पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी।