वीएमडीएस ट्रस्ट के मालिकाना ढांचे का हुआ बड़ा खुलासा, भारतीय बैंकों ने ठोका केस

वीएमडीएस ट्रस्ट के मालिकाना ढांचे का हुआ बड़ा खुलासा, भारतीय बैंकों ने ठोका केस

लंदनः भारतीय बैंकों ने विजय माल्या को संपति के असली जानकारी को लेकर ब्रिटिश उच्च न्यायालय में घसीटा है. न्यायालय में सोमवार को जिन संपत्ति को लेकर असहमति दर्ज कराई गई, उसमें दो सुपरयाट (नौका), जंगल क्षेत्र, मूल्यवान अघोषित संपत्ति व पुरानी प्रतिष्ठित कारें, मूल्यवान पेंटिंग व एलटन जॉन (गायक, गीतकार) का एक पियोनो भी है.

VMDS Trust, Image Result for Indian Banks

भारतीय स्टेट बैंक की प्रतिनिधित्व में हिंदुस्तान के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का एक समूह संसार भर में 1.145 अरब पौंड की संपत्ति के जब्ती आदेश के बीच 63 वर्षीय माल्या से अपनी बकाया राशि वसूलने को लेकर कदम उठा रहा है.

सोमवार को सुनवाई के दौरान बैंकों ने ऐसे जरूरी दस्तावेज को सामने लाने की मांग की जिससे वीएमडीएस ट्रस्ट के मालिकाना ढांचे का खुलासा हो जाएगा. यह ट्रस्ट माल्या के पिता विट्टल माल्या के नाम पर है. इसके बारे में माल्या क दावा है कि इसमें उनका कोई फायदेमंद हित नहीं जुड़ा है.भारतीय स्टेट बैंक की अगुआई में हिंदुस्तान के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के समूह ने संसार भर में 9850 करोड़ की संपत्ति के जब्ती आदेश के बीच 63 वर्षीय माल्या से अपनी बकाया राशि वसूलने को लेकर कदम उठा रहा है.

भारतीय बैंकों की पैरवी कर रहे बैरिस्टर निजेल टोजी ने न्यायाधीश रॉबिन कोल्स से बोला कि हिंदुस्तान व यहां की अदालतों में पूरी कहानी बयां नहीं की गई है. टोजी ने कहा, 'सभी रास्ते वीएमडीएस की ओर जाते हैं, लेकिन मूल सूचना प्राप्त करने में रास्ते में बाधा खड़ी की जा रही है। । .' उन्होंने इस दावे से सहमति जताई कि माल्या के हित ट्रस्ट से जुड़े हैं. जज नोल्स ने बोला कि सुनवाई पूरी होने के बाद बैंकों के ताजा आवेदन पर निर्णय देंगे.