लाइट में सोने से होता है ये बीमारी जाने यहाँ

लाइट में सोने से होता है ये बीमारी जाने यहाँ

लाइट में सोने का सम्बंध मोटापे से भी है. युनाइटेड इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के शोधकर्ताओं का दावा है कि रात में सोने के दौरान कृत्रिम लाइट स्त्रियों में वजन बढ़ने का कारण है. अमेरिकी शोधकर्ताओं के मुताबिक, टेलीविजन की लाइट या कमरे में प्रकाश के बीच सोना स्त्रियों में वजन बढ़ने की वजह बन सकता है.

  1. शोध में 35-74 आयु की 43,722 स्त्रियों ने भाग लिया. रिसर्च ब्रेस्ट कैंसर व दूसरी बीमारियों की वजह जानने के लिए की गई थी. इन स्त्रियों में कैंसर की हिस्ट्री नहीं थी व न ही दिल रोग से पीड़ित थी. इनके अतिरिक्त ये दिन में नहीं सोती थी व न ही शिफ्ट में कार्य करती थीं.

  2. वैज्ञानिकों ने इन स्त्रियों की लंबाई, वजन, कमर की नाप व बॉडी मास इंडेक्स जैसी जानकारी को शामिल किया था. करीब 5 वर्ष तक इन जानकारियों का विश्लेषण किया गया. परिणाम के तौर पर सामने आया कि रात में लाइट में सोने वाली स्त्रियों का वजन बढ़ा. हालांकि वजन प्रकाश की तीव्रता के आधार पर बढ़ा था. जैसे तेज या टीवी की लाइट में सोने वाली स्त्रियों में 5 किलो तक वजन बढ़ा था.

  3. शोध में यह जाना गया रात में सोते समय कौन सी महिला बिना रोशनी, कौन हल्की लाइट व किसके कमरे के बाहर प्रकाश रहता है. इसके अतिरिक्त कौन चलते टेलीविजन की लाइट में सोती हैं. जामा पत्रिका में प्रकाशित शोध के अनुसार, शोधकर्ताओं ने सलाह दी है कि महिलाएं वजन बढ़ने से रोकना चाहती हैं तो रात में रोशनी बंद करके ही सोएं.

  4. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एनवायर्नमेंटल हेल्थ साइंसेस के प्रोफेसर डेल सैंडलर के मुताबिक, अधूरी नींद भी मोटापे का कारण है. डेल कहते हैं, लाइट से वजन बढ़ने को पूरी तरह से प्रमाणित नहीं किया गया है. हालांकि ऐसे मुद्दे सबसे ज्यादा शहरी क्षेत्रों में ही देखने को मिलेंगे.