मैदान में वापसी को लेकर डरे हुए हैं Umesh Yadav, बोले...

मैदान में वापसी को लेकर डरे हुए हैं Umesh Yadav, बोले...

नई दिल्ली : कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण मार्च से ही क्रिकेट मैदान से क्रिकेट खिलाड़ी दूर हैं व वह अपने घरों में वक्त बिता रहे हैं. इस दौरान उमेश यादव (Umesh Yadav) ने एक मीडिया से बात करते हुए बताया कि लॉकडाउन (Lockdown in india) के बाद जब भारतीय खिलाड़ी, खास कर तेज गेंदबाज (Fast Bowler) मैदान पर वापसी करेंगे तो उनके साथ क्या कठिनाई आएगी. उमेश यादव का मानना है कि जितना देर होगा, वापसी उतनी कठिन होगी व टीम इंडिया (Team India) का कोई खिलाड़ी अभी तक आउटडोर एक्सरसाइज (Outdoor Practice) के लिए नहीं उतरा है. इसलिए वह जल्दी-से जल्दी वापसी चाहते हैं. उनके लिए लार पर प्रतिबंध (Ban on saliva) से बड़ा मसला एक्सरसाइज पर लौटना है. इसके अतिरिक्त वह चाहते हैं कि भारतीय प्रीमियर लीग (IPL) भी खेला जाए, ताकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उतरने से पहले पूरी तरह प्रशिक्षण हो जाए. इसके अतिरिक्त उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) व मौजूदा कैप्टन विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में अंतर भी बताया.

उमेश बोले, लॉकडाउन के बाद आएगी मुश्किल

एक इंटरव्यू के दौरान उमेश यादव से जब यह पूछा गया कि हिंदुस्तान में लगे लॉकडाउन के बाद जब भी एक्सरसाइज प्रारम्भ होगा, तब सभी खिलाड़ी बहुत ज्यादा लंबे समय बाद मैदान पर वापसी करेंगे. ऐसे में आपको अपने पुराने फॉर्म को पाने में कितनी कठिन होगी? इस पर उन्होंने बोला कि गेंदबाज के रूप में उन्हें कड़ी मेहनत व मांसपेशियों पर ध्यान केंद्रित करना होगा. उन्होंने बोला कि एक पेशेवर के रूप में जब भी आप मैदान पर जाते हैं तो अपना 100 फीसदी देना चाहते हैं. लेकिन साथ ही इस बात पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है कि लॉकडाउन के बाद से ही मैदान से बाहर हैं. इसलिए आरंभ में गेंदबाजी व क्षेत्ररक्षण में थोड़ी कठिन आएगी. उन्होंने बोला कि लॉकडाउन के बाद जब हम मैदान पर एक्सरसाइज के लिए लौटेंगे तो इस पर कार्य करना प्रारम्भ कर देंगे. इसलिए वह चाहते हैं कि जल्दी से जल्दी मैदान पर वापसी हो.

माही व धोनी दोनों को बताया शानदार कप्तान

उमेश यादव चाहते हैं कि किसी भी तरह आईपीएल 2020 (IPL 2020) हो, क्योंकि इससे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने से पहले खिलाड़ियों को एक आदर्श प्रशिक्षण का मौका मिल जाएगा. 2011 में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में करियर की आरंभ करने वाले उमेश यादव से जब धोनी व विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बोला कि लोग माही भाई को कैप्टन कूल (Captain Cool) कहते हैं. उन्होंने ने भी धोनी से बहुत ज्यादा कुछ सीखा है. वह कोहली के मार्गदर्शन में धोनी के समय सीखी चीजों को अमल में ला रहे हैं. यादव ने बोला कि कोहली बहुत ज्यादा आक्रामक हैं. उनकी शारीरिक भाषा, उनकी सोच, सभी मैच. देख लो आप. उमेश ने बोला कि उनके मार्गदर्शन में खेलना अच्छा है.

सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजी इकाई का भाग होने पर गर्व

उमेश यादव ने बोला कि उन्हें सर्वश्रेष्ठ भारतीय तेज गेंदबाजी इकाई का भाग होने पर उन्हें गर्व है. उन्होंने बोला कि टीम में स्थान बनाने के लिए होने वाली स्वस्थ प्रतिस्पर्धा उन्हें पसंद है. अब हमारा गेंदबाजी आक्रमण बहुत ज्यादा मजबूत है. सभी गेंदबाज शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. जब वह एक्सरसाइज करते हैं तो प्रतिस्पर्धा के हिसाब से हर दिन अपने खेल में सुधार करने की प्रयास करते हैं.