लखनऊ में कोरोना वायरस का बरसा कहर, पढ़े पूरी खबर

लखनऊ में कोरोना वायरस का बरसा कहर, पढ़े पूरी खबर

लखनऊ में सिविल व लोकबंधु अस्पताल में कोरोना की जाँच प्रारम्भ होने जा रही है. उसका ट्राॅयल प्रारम्भ हो गया है. ट्रूनेट मशीन से कोरोना की जाँच 30 मिनट में हो जाएगी. शासन स्तर से दोनों अस्पतालों में ट्रूनेट मशीन मुहैया करा दी गई है

. उम्मीद है कि दो से तीन काम दिवस में अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की निशुल्क कोरोना जाँच प्रारम्भ हो जाएगी. इससे कोरोना जाँच में तेजी भी आएगी. 

कानपुर रोड स्थित लोकबंधु राजनारायण संयुक्त अस्पताल (कोविड-19) अस्पताल में अभी तक कोरोना की जाँच नहीं हो रही थी. यहां सिर्फ कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती करके उपचार दिया जा रहा था. वहीं पार्क रोड स्थित सिविल अस्पताल में भी कोरोना की जाँच नहीं हो रही थी. सिविल-लोकबंधु अस्पताल के निदेशक डॉ डीएस नेगी ने बताया शासन की ओर से ट्रूनेट मशीन दी गई है, जिसे स्थापित करा दिया गया है. सिविल में दो व लोकबंधु अस्पताल में एक मशीन मिली है. कर्मचारियों को भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है. इस मशीन से 30 से 60 मिनट में कोरोना की रिपोर्ट आ जाएगी.  

30 से 48 नमूनों की होती है जांच 

यह मशीन बैटरी से चलती है. मशीन टीबी के मरीजों की जाँच में भी प्रयोग होती है. इससे एक बार में 30 से 48 नमूनों की जाँच हो सकती है. आईसीएमआर ने इस मशीन को जाँच के लिए ठीक माना है. इस मशीन से जाँच करने में एक हजार से 15 सौ रुपए का एक आदमी पर खर्च आएगा. अभी तक अस्पताल में संदिग्धों का नमूना लेकर केजीएमयू में जाँच के लिए भेजा जाता रहा है. यह जाँच व्यक्तिगत केंद्रों पर 45 सौ रुपए की होती है.